Wednesday, November 11, 2009

एक दलित की आत्‍मकथा : सच को उघाड़ने की प्रमुखता












































पुस्‍तक : अपने अपने पिंजरे, दो भाग
लेखक : मोहनदास नैमिशराय
विधा : आत्मकथा
प्रकाशक : वाणी प्रकाशन
21-, दरियागंज, नयी दिल्ली-110002
प्रथम संस्‍करण : 1995
तृतीय संस्करण : 2006
मूल्‍य : 60 रूपये प्रति भाग, पेपरबैंक
फोन 011-23273167, 23275710
e-mail : vani_prakashan@yahoo.com

No comments:

Post a Comment